नट खट बड़ा || Nat Khat Bada Lyrics || Bhajan Lyrics

0
2348
नट खट बड़ा हे माँ तेरो कन्हैया
पनघट से निकली जब भरके गगरिया

अरे इस तेरे लल्ला ने पकड़ी कलाई
हाँ  झटके  से  मोरी  मटकी  गिराई

जबसे ही कन्हैया ने खींची मोरी अंगिया
फिर क्याहुआ शोर मच गया मोरी मैया

रस्ता मेने बदला रस्ते पे जोवो खड़ा था
पनघट  से  पहले  जा  वो  खड़ा वो था

वहाँ  शोर  मच  गया  हाय मोरी  मैया
बिच बजरिया घेरे सखियाँ भी संगमे मेरे

कैसे बताँऊमें उसको बताऊँ कि बताऊँ
किस किस को बताऊँ की इनको बताऊँ

ऐसे फंसी में दैया रे दैया फोड़ने कनैया
मटका गया रे जुल्म कर गया रे कनैया

फिरक्या हुआ वहां शोर मचगया मोरी मैया
नट  खट  बड़ा  हे  माँ  तेरो   कन्हैया,..

-राधाकृष्ण भजन,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here