आ मांखन मिश्री || Aa Makhan Mishri Lyrics || Bhajan Lyrics

0
565
आ मांखन मिश्री खाले हम
अरमा सब दिलके मिटाले हम

दिलमे  में हे  खलबली
पकड़ी  ना  जाये  चोरी,..(२)

चुके  न मौका  ये  हम
आ माखन मिश्री चढने दे

तू चुपके से मुझे मटकी दे
चढ़ भी जा चुपके से मैया

दिलमे हे खलबली पकड़ी ना
आ तूने जो देखा हे माँ से कहदे

मैंने तो भी खाया हे कहूँगी में
सामने माँ खड़ी जान आफत में पड़ी

मिलके  चले भागे  हम सब रे
आ मांखन मिश्री खाके चले रे,

-राधेकृष्ण भजन,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here