कान्हा हमारा जग से निराला || Kanha Hamare Jag Se Nirala Lyrics || Krishn Bhajan Lyrics

0
350
कान्हा हमारा जग से निराला
करले  तू  सबको  नमन
मुक्ति दिलाए पार लगाए
अजा  तू  इसकी  शरण…

मनमे बसी है श्याम तेरी मूरत
जिधरदेखती हूँ नजर आए बस तू
तेरा मेरा रिश्ता टूटे कभी ना
कान्हा हमारा जग से निराला,..

बंसी की तानो में जादू है ऐसा भरा
जो सुने वो वही रह जाता है खड़ा,.(२)
जोतेरा नामले पल में वो जाताहै तर
जो तेरे सामने कान्हा झुकता है सर

बंसी बजईया सबके नचईया
पार लगा दे  तू  मेरी  नइया
कान्हा हमारा जगसे निराला करले

पापियों का सदा संहार तूने किया
दुष्टों को मारकर जगका उद्धार किया
जो तेरे भक्तहै जो तुझको हरपल जपे
कान्हा हमारा जग से निराला,..

जो तेरे सामने है हाथ जोड़े खडे
ज्ञान दया के तुम अवतारी
जिंदगी सबकी  तूने  संवारी
कान्हा हमारा जग से निराला,..

जो मेरे पास है तेरा ही है वो प्रभु
सारे संसार का कान्हा तू ही है गुरु
तूने कंस का अभिमान चूर किया
कान्हा हमारा जग से निराला,..

बनके सारथि अर्जुन के साथ रहा
शंका अर्जुन की तूने ही  मिटाई
कर्म की  भाषा  उसको  सिखाई
कान्हा हमारा जग से निराला,..

-कृष्ण भजन,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here