भोले तेरी जटा में | Bhole Teri Jata Me Lyrics | Bhajan Book Lyrics

0
812
भोले तेरी जटामे बहती है गंग धारा |
शंकर तेरी जटा में बहती है गंग धारा |
काली घटा के अंदर जिव दामिनी उजाला |
शंकर तेरी जटा में बहती है गंग धारा |
गले में मुंडमल साजे शशि भाल में बिराजे |
डमरू नीनाद बाजे करमे त्रिशूल धारा |
भोले तेरी जटामे बहती है गंग धारा |
त्रगतीन तेग राशि कटी बंध नाग फासी |
गिरजा हे संग दासी कैलाश के निवासी |
भोले तेरी जटामे बहती है गंग धारा |
शिवनाम जो उच्चारे सब पाप दोष टाले |
भक्तो के कष्ट हारी भव सिंधु पार तारे |
भोले तेरी जटामे बहती है गंग धारा |
भोले तेरी जटामे बहती है गंग धारा |
शंकर तेरी जटा में बहती है गंग धारा |
काली घटा के अंदर जिव दामिनी उजाला |
शंकर तेरी जटा में बहती है गंग धारा |

 

 

Table of Contents

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here