क्या भरोसा है इस ज़िंदगी का | Kya Bharosa Hai Is Jindagi Ka Lyrics

0
39

क्या भरोसा है इस ज़िंदगी का
साथ देती नहीं यह किसी का

सांस रुक जाएगी चलते चलते,
शमा बुज जाएगी जलते जलते ।
दम निकल जायेगा रौशनी का ॥
क्या भरोसा है…

हम रहे ना मोहोबत रहेगी,
दास्ताँ अपनी दुनिया कहेगी ।
नाम रह जाएगा आदमी का ॥
क्या भरोसा है…

दुनिया है इक हकीकत पुरानी,
चलते रहना है उसकी रवानी ।
फर्ज पूरा करो बंदगी का ॥
क्या भरोसा है…

Sath Deti Nahi Ye Kisi Ka Lyrics

Kya Bharosa Hai Is Jindagi Ka Lyrics

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here