सब तीरथ कर आयी | Sab Tirath Kar Aayi Lyrics | Narayan Swami | Bhajanbook

0
618
सब तीरथ कर आई तुम्बडिया , सब तीरथ कर आयी ।।
गंगा नाई , गोमती नाई , अड़सठ तीरथ घाई
नित नित उठ मंदिर में आई , तो भीना गई कडवाई ।।
सद्गुरु संत के नजर छड़ी तब , अपने पास मंगाई
काट कूट कर साफ़ बनाई , अंदर राख मिलाई ।।
राख मिलाकर पाक बनाई , तब तो गई कडवाई
अमृत जल भर लाई तुम्बडिया , संतन के मन भाई ।।
ये बाता सब सत्य सुनाई , जुठ नहीं है भाई
दास ” सतार ” तुम्बडिया फिरतो , करती फिरे ठकुराई ।।
सब तीरथ कर आयी तुम्बडिया , सब तीरथ कर आयी ।।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here