कैलाश के निवासी | Kailash Ke Nivasi Lyrics | Shiv Bhajan Lyrics

0
800
कैलाश के निवासी नमो बार बार हु,
नमो बार बार हु , नमो बार बार हु
आयो चरण तिहारी भोले तार तार तू,
भक्तो को कभी शिव तूने निराश न किया ,
माँगा जिन्हे जोई चाहा वरदान दे दिया ,
बड़ाहे तेरा दायजा , बड़ा दातार तू (2), 
आयो चरण तिहारी भोले तार तार तू ,
कैलाश के निवासी ,,,,,,,
बखान क्या करू में राखो के ढेर का ,
चपटी भभूत में हे खजाना कुबेर का , 
हे गंगधार , मुक्ति द्वार , ओमकार तू (2), 
आयो चरत तिहारी भोले तार तार तू ,
कैलाश के निवासी ,,,,,,,
क्या क्या नहीं दिया है  हम क्या प्रमाण दे , 
बेस गए त्रिलोक शंम्भु तेरे दान से , 
जहर पिया , जीवन दिया , कितना उदार तू (2), 
आयो चरण तिहारी भोले तार तार तू ,
कैलाश के निवासी ,,,,,,,
तेरी कृपा बिना न हिले एक ही अणु , 
लेते हे स्वास तेरी दया से तणु तणु , 
कहे ‘ दाद ‘ एक बार मुझको निहार तू  (2), 
आयो चरण तिहारी भोले तार तार तू , 
कैलाश के निवासी नमो बार बार हु,
नमो बार बार हु ,नमो बार बार हु ,
आयो चरण तिहारी भोले तार तार तू,
आयो चरण तिहारी भोले तार तार तू ,
Kailash Ke Nivasi Lyrics
Shiv Bhajan Lyrics Bhajanbook

Table of Contents

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here